बादलों की गडग़ड़ाहट से भी दमदार है शिवसेना की आवाज : अरुण पाण्डेय

रायपुर, 16 अप्रैल (आरएनएस)। युवासेना प्रमुख आदित्य ठाकरे इन दिनों महाराष्ट्र के प्रत्येक शहर में आदित्य संवाद नाम से युवाओं से रु-ब-रु हो रहे हैं। एक बार फिर आदित्य ठाकरे से युवाओं ने शिक्षा-स्वास्थ्य-रोजगार के विषय में प्रश्न किया जिनका युवासेना प्रमुख ने बखूबी से जवाब प्रस्तुत किया.
जिस प्रकार महाराष्ट्र में शिवसेना युवाओं के शिक्षा-स्वास्थ्य-रोजगार के लिये सक्रिय भूमिका अदा कर रही है ठीक उसी प्रकार एनडीए की सरकार चुनकर आने पर देशव्यापी सक्रियता आरंभ कर दी जावेगी यह कहना है युवासेना के प्रमुख आदित्य ठाकरे का.
जानकारी होकि शिवसेना संस्थापक बालासाहेब जी की ही तरह तेजतर्रार आदित्य ठाकरे में जनता के प्रति संवेदना भी बालासाहेब जी की ही तरह कूट कूट कर भरी हुई है। वे लगातार जनहित कारी में सक्रिय भूमिका निभाते नजर आते रहते हैं, जैसे कि प्रत्येक रविवार को मुंबई के महासागर के किनारे सफाई अभियान हो या महिलाओं के लिये मुप्त सुरक्षा की ट्रेनिंग, युवाओं के लिये मुप्त ओपन जिम की बात हो या महाविद्यालयों में किसी भी प्रकार की समस्या आदित्य ठाकरे जी सदैव सभी जगह पर अपनी सक्रिय भूमिका में रहते हुये, देशभर? के युवाओं के चहिते युवानेता बन गये हैं।
छत्तीसगढ़ राज्य में भी युवासेना प्रमुख आदित्य ठाकरे जी के हजारों समर्थक हैं जो आगे देशव्यापी शिक्षा – स्वास्थ्य – रोजगार के मुहिम में अपनी सक्रिय भूमिका निभाने को तैयार हैं। यह कहना है युवासेना, छत्तीसगढ़ राज्य के प्रदेश सचिव अरुण पाण्डेय् जी का उन्होने? यह बाते एक मुलाकात के दौरान कही. उन्होंने बताया कि हालांकि शिवसेना व भाजपा का गठबंधन महाराष्ट्र राज्य के लिये हुआ है बावजूद शिवसेना छत्तीसगढ़ राज्य में स्वबल पर लोकसभा चुनाव के मैदान में पुरे शक्ति के साथ खड़ी है। लोकसभा के महासमर में शिवसेना ने पुरे 12 सीटों पर अपने प्रत्याशियों की घोषणा किया था परंतु त्रुटिवश 2 सीटों के नामांकन रद्द होने? के कारण अब शिवसेना छत्तीसगढ़ के 10 लोकसभा सीटों पर दमदारी से चुनाव मैदान में है। अरुण पाण्डेय् ने सीमाई आतंकवाद व शहरी नक्सल गतिविधियों के विषय पर सरकार की भूमिका को लेकर पूंछे एक सवाल के जवाब में कहा कि शिवसेना की आवाज बादलों की गडग़ड़ाहट से भी भारी है, जब तक चुप हैं चुप हैं वरना ऐसा शंखनाद होगा कि संपूर्ण भारत पुन: हिंदुस्तान बन जायेगा. उन्होने छत्तीसगढ़ के युवाओं से तीर धनुष छाप पर बटन दबाकर शिवसेना प्रत्याशियों को दिल्ली के संसद भवन तक भेजने की तैयारी कर लेने निवेदन किया है। युवाओं के बीच जाकर युवासेना प्रमुख उनसे सलाह व सुझाव मांग रहे हैं, जैसा देश के युवा चाहते हैं वैसा ही शिवसेना के सांसद दिल्ली में जाकर अपनी आवाज़ बुलंद करेंगे.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *