भारतीय वायुसेना ने किया अर्ध मैराथन का आयोजन

नईदिल्ली,14 अपै्रल (आरएनएस)। भारतीय वायुसेना के दिवंगत मार्शल अर्जन सिंह डीएफसी भारतीय वायुसेना के पहले और एकमात्र ‘पंच सिताराÓ रैंक के अधिकारी थे। हॉकी के लिए उनका प्रेम अप्रतिम था। भारतीय वायुसेना का यह इतिहास पुरुष हमेशा ही न केवल युद्ध के मोर्चे पर बल्कि खेलों के क्षेत्रों में भी नेतृत्व करने वाला वायु योद्धाओं के लिए प्रेरणा का एक बड़ा स्रोत रहा।
इस विख्यात मार्शल अर्जन सिंह के जन्मशती समारोह के एक हिस्से के रूप में 14 अप्रैल को देश भर के 100 वायुसेना केंद्रों में एक अर्ध मैराथन का आयोजन किया गया। 10 हजार से अधिक वायु योद्धाओं ने 100 वायुसेना केंद्रों पर अब तक के उनके पहले पंच सितारा रैंक के मार्शल की जन्मशती समारोह को मनाने के लिए 2.1 लाख किलोमीटर की दूरी तय की।
दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में स्थित वायु योद्धाओं के लिए 14 अप्रैल को जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में अर्ध मैराथन का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में 800 से अधिक वायु योद्धाओं ने भाग लिया। अर्ध मैराथन को एयर मार्शल रघुनाथ नाम्बियार, पीवीएसएम एवीएसएम वीएम एवं बार एडीसी, पश्चिमी हवाई कमान के एयर ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ ने जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम से रवाना किया और एयर चीफ मार्शल बीएस धनोवा पीवीएसएम एवीएसएम वाईएसएम वीएम एडीसी, चीफ ऑफ एयर स्टाफ (सीएएस) मुख्य अतिथि के रूप में समापन समारोह में उपस्थित हुए। 2228 स्क्वाड्रन के अग्रणी एयरक्राफ्ट्समैन मनोहर, 13 बेस रिपेयर डिपो के डिफेंस सिक्यूरिटी कॉर्प्स (डीएससी) के सिपाही एस. राजू एवं पश्चिमी वायु कमान के डीएससी के लांस नायक रतन सिंह ने क्रमश: 35 वर्ष और उससे नीचे, 36 वर्ष से 45 वर्ष और 46 वर्ष के वर्गों में स्वर्ण पदक जीता।
जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए सीएएस ने कहा ‘भारतीय वायुसेना ने एक ही साथ देशभर में अर्ध मैराथन का आयोजन कर क्रीड़ा गतिविधियों में एक मील का पत्थर अर्जित किया है। भारतीय वायुसेना के दिवंगत मार्शल अर्जन सिंह डीएफसी एक कुशल खिलाड़ी थे। इस अर्ध मैराथन का आयोजन इस ऐतिहासिक पुरुष को एक उपयुक्त श्रद्धांजलि तथा देश के प्रति उनके योगदान को देखते हुए हमारी तरफ से कृतज्ञता व्यक्त करने का एक सराहनीय तरीका है। यह कार्यक्रम खेलों को आगे बढ़ाने तथा हमारे युद्ध योद्धाओं को फिटनेस के उच्च मानकों को स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित करने के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को रेखांकित करता है।’
उन्होंने देशभर में वायुसेवा केंद्रों में अर्ध मैराथन में भाग लेने वाले सभी युद्ध योद्धाओं को बधाई दी। उन्होंने पुरस्कार विजेताओं को भी बधाई दी और कहा कि वह भारतीय वायुसेना के मार्शल के जन्म शताब्दी हॉकी प्रतियोगिता की भी प्रतीक्षा कर रहे हैं, जिसका आयोजन चंडीगढ़ में किया जा रहा है। यह प्रतियोगिता भारतीय वायुसेना के दिवंगत मार्शल के प्रति एक उपयुक्त श्रद्धांजलि होगी।
००

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *