केन्द्र सरकार काले धन को देश से हटाकर दम लेगी- गोयल

नई दिल्ली ,01 फरवरी (आरएनएस)। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल मोदी सरकार के मौजूदा कार्यकाल का अंतिम बजट पेश कर रहे हैं। हालांकि, सरकार पहले ही स्पष्ट कर चुकी है कि यह वित्तवर्ष 2019-20 का पूर्ण बजट नहीं होगा। इसके बावजूद चुनावी साल होने की वजह से विभिन्न वर्ग सौगातों की उम्मीद कर रहे हैं। केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली की अनुपस्थिति में वित्तमंत्रालय का प्रभार संभाल रहे गोयल ने सुबह 11 बजे लोकसभा की कार्यवाही शुरू होने के बाद स्पीकर की आज्ञा से अपना बजट भाषण शुरू किया। सूत्रों के अनुसार, लोकसभा चुनाव से पहले पेश होने वाले अंतरिम बजट में किसानों और मध्यम वर्ग को लुभाने के लिए उन्हें कई रियायतें दी जा सकती है। किसान देश की आबादी में 60 प्रतिशत की हिस्सेदारी रखते हैं और उसके बाद मध्यम वर्ग सबसे बड़ा वर्ग है। इसलिए, माना जा रहा है कि सरकार का इन दोनों वर्गों पर जोर रहेगा।

80 फीसदी करदाताओं की संख्या बढ़ी- पीयूष गोयल

उन्होंने कहा- मैं ईमानदार करदाताओं के धन्यवाद देता हूं

अगले पांच सालों में एक लाख डिजिटल गांव बनाए जाएंगे।

पिछले पांच सालों में सौर्य ऊर्जा सेक्टर में दस गुना बढ़ोतरी हुई।

राष्ट्रीय गोकुल योजना के लिए 2019-20 के बजट में 750 करोड़ रुपये का आवंटन।

मेक इन इंडिया के कारण मोबाइल कंपनियों की संख्या बढ़ी, इससे रोजगार की संभवनाएं बढ़ेगी।

पूरी दुनिया में रोजगार की कल्पना बदल रही है। अब जॉब सीकर जॉब क्रिएटर बन गया है। भारत स्टार्टअप का दूसरा सबसे बड़ा हब बन चुका है।

उज्जवला योजना के तहत अगले साल तक आठ करोड़ गैस कनेक्शन और देगी सरकार।

ग्रेच्युटी की सीमा को दस लाख से बढ़ाकर 20 लाख रुपये की।

पीएम श्रम योगी मान धन को मंजूरी दी गई।

श्रमिकों का बोनस बढ़ाकर सात हजार रुपये किया गया, श्रमिक की मौत पर मिलेगा छह लाख का मुआवजा

21 हजार रुपये तक का वेतन मिलने वालों को मिलेगा बोनस

पशुपालन के लिए भी किसान क्रेडिट कार्ड देगी सरकार

सरकार शुरू करेगी कामधेनु योजना, खर्च होंगे 750 करोड़ रुपये- पीयूष गोयल

पशुपालन और मत्स्य पालन के लिए कर्ज में 2 फीसदी ब्याज की छूट

इस योजना से 12 करोड़ किसानों को फायदा पहुंचेगा। एक दिसबंर 2018 से किसानों के खाते में पैसे आएंगे।

बजट में किसानों के लिए योजनाओं का ऐलान, 2 हेक्टेयर जमीन वाले किसानों के खाते में जाएंगे 6000 रूपए- पीयूष गोयल

सस्ते अनाज पर 1.07 लाख करोड़ रूपये दिए

सरकार स्वच्छता के लिए प्रतिबद्ध, स्वच्छ भारत राष्ट्रीय आंदोलन बना, गांवों को खुले में शौच से मुक्ति मिली – पीयूष गोयल

सरकारी बैंकों को मजबूत करने के लिए सरकार ने मदद की

अब बड़े कारोबारियों को बैंक से लिए लोन चुकाने पड़ रहे हैं।

आर्थिक भगोड़ों के लिए कानून के शिंकजे में लाए, भगोड़ों की संपत्ति सरकार के कब्जे में

कमर तोड़ महंगाई की हमने कमर तोड़ी

हमारी सरकार ने महंगाई पर लगाम लगाई

पीयूष गोयल ने कहा हम दुनिया की छठीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था

हमने देश के आत्मविश्वास को बढ़ाया

केंद्रिय मंत्री पीयूष गोयल ने बजट भाषण पढऩा शुरू किया।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *