कांग्रेस ने प्रियंका को सक्रिय राजनीति में उतारा

नई दिल्ली ,23 जनवरी (आरएनएस)। लोकसभा चुनाव से कुछ महीने पहले बड़ा दांव खेलते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपनी बहन प्रियंका गांधी वाड्रा को बुधवार को पार्टी महासचिव नियुक्त किया और उत्तर प्रदेश-पूर्व की जिम्मेदारी सौंपी है।
आगामी लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के इस दांव से प्रियंका गांधी का सक्रिय राजनीति में पदार्पण हो गया। उनकी नयी भूमिका पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि प्रियंका गांधी के आने से उत्तर प्रदेश में एक नये तरीके की सोच आएगी और राजनीति में श्सकारात्मकश् बदलाव आएगा।
पार्टी की ओर से जारी विज्ञप्ति के मुताबिक प्रियंका के साथ ही ज्योतिरादित्य सिंधिया को महासचिव-प्रभारी (पश्चिम उत्तर प्रदेश) बनाया गया है। प्रियंका की राजनीतिक गतिविधि लंबे समय से अपनी मां सोनिया गांधी के निर्वाचन क्षेत्र रायबरेली और भाई राहुल गांधी के निवार्चन क्षेत्र अमेठी तक ही सीमित थी।
राहुल गांधी ने जताया भरोसा
प्रियंका की नियुक्ति के बाद राहुल गांधी ने कहा कि उन्होंने उत्तर प्रदेश में प्रियंका गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया को मिशन दिया है कि वे राज्य में कांग्रेस की सच्ची विचारधारा, गरीबों और कमजोर लोगों की विचारधारा के साथ सबको आगे लेकर बढऩे की विचारधारा को आगे बढायें। उन्होंने कहा कि इस फैसले से उत्तर प्रदेश में नये तरीके की सोच आएगी और राजनीति में सकारात्मक बदलाव आएगा। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि मुझे पूरा भरोसा है कि प्रियंका और ज्योतिरादित्य काम करेंगे। जो उत्तर प्रदेश को चाहिए, जो उत्तर प्रदेश के युवा को चाहिए, वह कांग्रेस पार्टी ही दे सकती है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मोतीलाल वोरा ने कहा कि प्रियंका को जो जिम्मेदारी दी गई, वह बेहद अहम है। इसका असर केवल पूर्वी उत्तर प्रदेश पर ही नहीं होगा, बल्कि उत्तर प्रदेश के अन्य इलाकों पर भी पड़ेगा।श् पार्टी नेता राजीव शुक्ला ने कहा कि प्रियंका जी को राजनीति में लाकर राहुल जी ने बड़ा सन्देश दिया है। इससे पूरे देश में कांग्रेस को फायदा होगा।उन्होंने दावा किया कि प्रियंका के नाम की घोषणा से ही भाजपा घबरा गई है।
आजाद बने हरियाणा के प्रभारी
पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता केसी वेणुगोपाल को बुधवार को अशोक गहलोत के स्थान पर पार्टी के संगठन महासचिव की अहम जिम्मेदारी सौंपी र्है। अशोक गहलोत हाल ही में राजस्थान के तीसरी बार मुख्यमंत्री बने हैं। वेणुगोपाल संगठन महासचिव का दायित्व संभालने के साथ ही कर्नाटक के लिए प्रभारी महासचिव की भूमिका में बने रहेंगे। इसके अलावा पार्टी ने वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद को हरियाणा का प्रभारी महासचिव का दायित्व सौंपा है। आजाद अभी तक उत्तर प्रदेश के प्रभारी के रूप में कार्य कर रहे थे।
००

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *