राज्य के कृषकों की ऋण माफी के लिए मापदंड तैयार

रायपुर, 22 दिसंबर (आरएनएस)। छत्तीसगढ़ की एक बड़ी आबादी के आय का स्त्रोत कृषि आधारित है। कृषकों द्वारा कृषि कार्य हेतु विभिन्न बैंकों, सहकारी समितियों से अल्पकालीन कृषि ऋण्ध लिया जाता है। प्रदेश में विगत कई सालों से अवर्षा एवं अन्य प्राकृतिक कारणों से फसल की क्षति होती आई है। जिस वजह से किसानों की आर्थिक स्थिति अच्छी नहं है। प्रदेश के कृषकों द्वारा विभिन्न मंचों के माध्यम से लगातार राज्य सरकार से यह अनुरोध करती आई है कि उनका कृषि ऋण माफ किया जाए। प्रदेश की समग्र परिस्थितियों को देखते हुए यह उचित प्रतीत होता है कि कृषकों के बकाया अल्पकालीन कृषि ऋण माफ कर दिए जाने से उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार होगा तथा वे बेहतर स्थिति में अपना जीवन यापन कर सकेंगे। अत: कृषकों के व्यापक हित में छत्तीसगढ़ राज्य में स्थित सहकारी बैंकों एवं छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण बैंक में समस्त किसानों के दिनांक 30 नवंबर 218 तक का अल्पकालीन कृषि ऋण माफ करने का निर्णय लिया गया है। इस निर्णय के क्रियान्वयन हेतु निम्रानुसार ऋण माफी योजना निर्धारित की जाती है।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *