षडय़ंत्र की नहीं विकास की राजनीति करती है भाजपा : अमित शाह

कांकेर, 05 अक्टूबर (आरएनएस)। नरहरपुर में आयोजित वनवासी सम्मेलन में तेंदूपत्ता संग्राहकों को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के साथ ही मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने बोनस का वितरण किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने कहा कि कांग्रेस ने अपने शासनकाल में सदैव गरीबी हटाने की बात कही, लेकिन इसके लिए कोई ठोस कदम ही नहीं उठाया।
नरहरपुर में आयोजित वनवासी सम्मेलन को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने कहा कि कांग्रेस ने अपने शासनकाल में कभी भी गांव, गरीब, मजदूर की चिंता नहीं की। कभी गरीबों के लिए चावल वितरण योजना नहीं बनाई, गरीबों के उपचार के लिए कोई बीमा योजना नहीं चलाई। बहनों को धुंए से मुक्ति दिलाने कभी गैस सिलेंडर नहीं बांटा। कांग्रेस के शासनकाल में गैस कनेक्शन केवल उन्हीं घरों में होता था जो अमीर होते थे। मगर भाजपा सरकार ने ऐसे गरीबों को भरपेट भोजन देने चावल बांटने का काम किया। गरीबों के बच्चे पढ़-लिख सकें, इसके लिए गांव-गांव और घर-घर बिजली पहुंचाने का काम किया। गरीबों को बीमार पडऩे पर भटकना न पड़े, इसके लिए मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना शुरू की, जिसमें 50 हजार तक का निशुल्क उपचार होता है। कांग्रेस को यदि गरीबों की इतनी ही चिंता थी तो अपने लंबे शासनकाल में इस तरह की योजनाएं क्यों नहीं चलाई? डा. रमन सिंह ने कहा कि कांग्रेस के मित्रों को यदि विकास देखना है तो वे नरहरपुर आ जाएं यहां के लोग खुद बता देंगे कि विकास क्या होता है। तेंदूपत्ता संग्राहकों के लिए चरण पादुका योजना, माताओं को स्मार्ट फोन का वितरण, गांव-गांव सड़कों का जाल यह विकास देखना है तो वे छत्तीसगढ़ के किसी भी गांव में चले जाएं। किसानों के नाम पर हाय तौबा मचाने वाले कांग्रेस ने कभी किसानों की चिंता नहीं की। भाजपा सरकार ने समर्थन मूल्य में धान खरीदी की तो भी उन्हें तखलीफ है। मोदी जी ने धान खरीदी पर 200 रूपए का समर्थन मूल्य दिया है। 1550 रूपए धान के मूल्य के साथ 200 का समर्थन मूल्य 300 रूपए बोनस के साथ 01 नवंबर से धान खरीदी शुरू हो जाएगी। भाजपा सरकार ने किसानों को साहूकारों से मुक्ति दिलाते हुए सहकारी बैंकों से ऋण की व्यवस्था की है। बेटियों की सुरक्षा के लिए और उसकी पढ़ाई-लिखाई के लिए नोनी योजना जिसमें बच्ची के जन्म के साथ ही राज्य सरकार उसके नाम से खाते खुलवाकर पैसा जमा कराती है। यह सब काम कांग्रेस के शासनकाल में क्यों नहीं हुआ?
जनता को कामों का हिसाब देने का साहस डा. रमन सिंह के पास :
वनवासी सम्मेलन को संबोधित करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि आज अटल विकास यात्रा चल रही है, इस यात्रा का समापन भी ऐसे पवित्र जगह पर हो रहा है जहां ऋंगी ऋषि जैसे महान तपस्पियों ने वर्षों तक घोर तप कर इस पूरे स्थान को पवित्र कर दिया। श्री शाह ने कहा राज्य सरकार के मुखिया डा. रमन सिंह की प्रशंसा करते हुए कहा कि यह भाजपा का ही मुख्यमंत्री हो सकता है जो कि अपने कामकाज का हिसाब देने जनता के बीच जाता हो। आज मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह 11 हजार किलोमीटर की यात्रा केवल इसीलिए कर रहे हैं कि वे छत्तीसगढ़ की जनता को अपने कामकाज का हिसाब दे सकें। उन्होंने कहा कि जनता के बीच अपने कामों का हिसाब देने जाना का साहस केवल मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह के पास ही है। उन्होंने कहा कि जब छत्तीसगढ़ बना तो यह बीमारू राज्य था। अटल जी ने छत्तीसगढ़ बनाने का काम किया और डा. रमन सिंह ने इसे संवारने का। उन्होने कहा कि छत्तीसगढ़ बनने के बाद यहां तीन सालों तक कांग्रेस का शासनकाल रहा। इन तीन सालों में प्रदेश के अंदर कानून-व्यवस्था किस अवस्था में थी यह किसी से छिपी नहीं है। इन तीन सालों में विरोधियों को केवल दबाने का काम हुआ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *