नौजवान छत्तीसगढ़ वर्ष 2025 में मनाएगा अपनी रजत जयंती : डॉ. रमन सिंह

रायपुर, 02 सितंबर (आरएनएस)। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी के हाथों निर्मित छत्तीसगढ़ राज्य वर्ष 2025 में नौजवान छत्तीसगढ़ के रूप में अपनी रजत जयंती मनाएगा। उन्होंने आज कहा – इसे ध्यान में रखकर राज्य सरकार ने ‘नवा छत्तीसगढ़ 2025Ó की परिकल्पना को साकार करने का संकल्प लेकर ‘अटल दृष्टि पत्रÓ तैयार किया है। इसमें नागरिकों के सुझाव भी लिए जाएंगे और प्रदेशवासियों के विचारों के अनुरूप नवा छत्तीसगढ़ 2025 के निर्माण की परिकल्पना को और भी ज्यादा बेहतर ढंग से संशोधित किया जाएगा। नवा छत्तीसगढ़ के निर्माण के लिए प्रत्येक छत्तीसगढिय़ा कंधे से कंधा मिलाकर चलेगा।
डॉ. सिंह ने कहा – दुनिया जानती है कि जब छत्तीसगढ़ की जनता कोई संकल्प लेती है तो उसे पूरा करने से कोई नहीं रोक सकता। उन्होंने कहा – नवा छत्तीसगढ़ का सपना हम सब मिलकर पूरा करेंगे और यह प्रदेशवासियों की तरफ से छत्तीसगढ़ राज्य निर्माता अटल जी को एक सच्ची श्रद्धांजलि होगी। डॉ. सिंह ने कहा – छत्तीसगढ़ राज्य के निर्माण में अटल जी की केन्द्रीय भूमिका थी, वहीं वे एक अभिभावक के रूप में सदैव हमारे मार्गदर्शक भी रहे। प्रदेश के विकास में उनके अभूतपूर्व योगदान को नमन करते हुए छत्तीसगढ़ सरकार ने तीन मुख्य कदम उठाने का निर्णय लिया है। पहला कदम ‘नवा छत्तीसगढ़ 2025Ó की परिकल्पना के लिए अटल दृष्टि पत्र का निर्माण और नवा छत्तीसगढ़ निर्माण के उद्देश्य के साथ अटल विकास यात्रा तथा अटल नगर (नया रायपुर) में पांच एकड़ के रकबे में एक भव्य ‘अटल स्मारकÓ का निर्माण। अटल नगर (नया रायपुर) की पहचान के रूप में एक लैण्ड मार्क होगा। स्मारक के निर्माण के लिए प्रदेश के हर गांव से मिट्टी एकत्रित की जाएगी। अटल स्मारक में उनकी मूर्ति के साथ संग्रहालय, पुस्तकालय आदि की भी व्यवस्था रहेगी।
मुख्यमंत्री ने कहा – राज्य निर्माण के बाद विगत 15 वर्षों में हमने विगत 15 वर्ष में विकास कार्यों में जिस तरह की निरंतरता दिखाई है, उसके परिणाम स्वरूप आज छत्तीसगढ़ देश के सबसे प्रगतिशील राज्यों की सूची अपनी अगल पहचान बना चुका है। राज्य के विकास की यात्रा तो अभी सिर्फ शुरू हुई है। जबकि हमें अभी और भी कई नये मुकाम हासिल करने हैं। इसके लिए ही छत्तीसगढ़ के रजत जयंती वर्ष 2025 को केन्द्र में रखकर कई संकल्पों के साथ अटल दृष्टि पत्र की परिकल्पना की गई है।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *