छत्तीसगढ़ के राज्यपाल बलरामदास जी टंडन का हृदयघात से हुआ निधन

रायपुर ,14 अगस्त (आरएनएस)। छत्तीसगढ़ के राज्यपाल बलरामदास जी टंडन का आज हृदयघात से निधन हो गया। श्री टंडन को सुबह अचानक तबीयत खराब होने पर राजभवन से मेकाहारा में उपचार के लिए तत्काल भर्ती कराया गया था, जहां पर गहन चिकित्सा कक्ष में डॉक्टरों की टीम श्री टंडन को बचाने का लगातार प्रयास करती रही किंतु लगभग 2:20 बजे के आसपास डॉक्टरों की टीम ने राज्यपाल बलरामदास जी टंडन को मृत घोषित कर दिया। श्री टंडन के हृदयघात की सूचना मिलते ही प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ.रमन ङ्क्षसह सहित प्रदेश के आलाधिकारी चिकित्सालय पहुंच गए। किंतु चिकित्सकों के अथक प्रयास के बाद भी श्री टंडन को नहीं बचाया जा सका। श्री टंडन पंजाब के मुलनिवासी है, उनके पुत्र को इस संबंध में सूचना मिलते ही वह पंजाब से रायपुर के लिए रवाना हो चुके है। प्रदेश सरकार ने श्री टंडन के निधन पर सात दिनों का राजकीय शोक घोषित किया है। उनका जन्म 1 नवंबर 1927 को अमृतसर पंजाब में हुआ था। उन्होंने पंजाब विश्वविद्यालय से स्नातक की उपाधि अर्जित की। सार्वजनिक जीवन में एक समाजसेवक की तरह कार्य करने वाले श्री टंडन ने राजनीति की शुरूआत 1953 से अमृतसर नगर निगम में एक पार्षद से की। 1957 से 1977 तक वे अमृतसर विधानसभा क्षेत्र के विधायक रहे। आपातकाल के दौरान वे 1975 से 1977 तक जेल में रहे। पंजाब में मंत्री पद पर रहते हुए भी उन्होंने स्वयंसेवक संघ के कैडर से आए श्री टंडन कुश्ती, व्हालीवाल, तैराकी और कबड््डी जैसे खेलों में सक्रिय हिस्सा लेते थे। उन्होंने काठमांडू नेपात में आयोजित सार्क देशों के सम्मेलन में भारतीय दल का प्रतिनिधित्व किया था। 10 जुलाई 2014 को उन्होंने छ.ग. के राज्यपाल का पदभार ग्रहण किया थाा। तब से अंतिम क्षणों तक उन्होंने प्रदेश की सेवा की। उनकी पत्नी बृजपाल टंडन भी एक एक्टिविस्ट रही है। वे स्वाधीनता संग्राम सेनानी है। उनके परिवार में दिल्ली स्थित उनकी बेटियां अलका कवात्रा, पूनम बत्रा तथा चंडीगढ़ निवासरत बेटा संजय टंडन हैं जो भाजपा के स्थानीय अध्यक्ष भी है। श्री टंडन के पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए राजभवन में रखा जाएगा। प्रदेश में 15 अगस्त को होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम निरस्त कर दिए गए है। जानकारी के अनुसार श्री टंडन का अंतिम संस्कार पंजाब के अमृतसर में किया जाएगा। मुख्यमंत्री डॉ.रमन ङ्क्षसह ने राज्यपाल श्री टंडन के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *