आपातकाल के बाद लोकतंत्र की बहाली में मीसा बंदियों का महत्वपूर्ण योगदान: डॉ. रमन सिंह

रायपुर, 26 जून (आरएनएस)। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि आपातकाल के बाद लोकतंत्र की स्थापना में मीसा बंदियों का महत्वपूर्ण योगदान है। आपातकाल के दौरान इन लोकतंत्र सेनानियों ने अनेक यातनाएं सही और अनेक बलिदान दिए। उनके त्याग और बलिदान से नई पीढ़ी को परिचित कराने के लिए आज पूरे देश में संकल्प दिवस मनाया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने आज यहां पंडित दीनदयाल उपाध्याय सभागार में लोकतंत्र सेनानी संघ द्वारा आयोजित प्रांतीय परिवार सम्मेलन और सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए इस आशय के विचार प्रकट किए। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ के लोकतंत्र सेनानियों को ताम्र पत्र प्रदान कर सम्मानित किया जाएगा और राज्य सरकार उनकी मांगों पर सहानुभूति पूर्वक विचार करेगी। कार्यक्रम में नक्सली घटना में शहीद पुलिस जवानों के परिजनों और आपातकाल के लोकतंत्र सेनानियों को शाल, श्रीफल और प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर लोकतंत्र सेनानी संघ द्वारा प्रकाशित ’नव स्वातंत्र्य स्मारिका’ का विमोचन किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि मीसा बंदियों से अधिक उनके परिवार जनों ने यातनाएं सही। मैं मीसा बंदियों और उनके परिवारजनों का अभिनंदन करता हूॅ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *