जनता के सुख-दुख में पूरी ताकत के साथ खड़ी है सरकार : डॉ.रमन सिंह

गरियाबंद, 06 जून (आरएनएस)। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि जनता के हर सुख-दुख में पूरी ताकत के साथ सरकार उनके साथ खड़ी है। राज्य सरकार जनता की स्वास्थ्य, शिक्षा, खेती-किसानी सहित तमाम जरूरतों को पूरा करेगी। विकास यात्रा में भारी संख्या में उमड़ी भीड़ से अभिभूत मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज गरियाबंद जिले के कोपरा, पाण्डुका और पोंड़ में आयोजित सभाओं को सम्बोधित कर रहे थे। डॉ. सिंह ने आने वाले समय में कोपरा को भी नगर पंचायत का दर्जा देने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने 10 हजार से अधिक आबादी वाले सभी गांवों को नगर पंचायत का दर्जा देने का नीतिगत फैसला लिया है। समारोह में कृषि एवं जल संसाधन मंत्री एवं जिले के प्रभारी बृजमोहन अग्रवाल, लोक निर्माण मंत्री राजेश मूणत, लोकसभा सांसद चन्दूलाल साहू, विधायक संतोष उपाध्याय और जिला पंचायत अध्यक्ष डॉ. श्वेता शर्मा विशेष रूप से उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने कोपरा की बहू और इस वर्ष संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा में आईपीएस के रूप में चयनित श्रीमती अंकिता शर्मा और दसवी बोर्ड परीक्षा में 97 प्रतिशत के साथ मेरिट में उत्तीर्ण भास्कर यादव को बधाई और शुभकामनाएं दी। डॉ. सिंह ने कोपरा की भजन मण्डली की चर्चा करते हुए कहा कि ये मण्डली सवेरे 4 बजे नित्य उठकर भजन-कीर्तन के माध्यम से सुसंस्कार और भाईचारे को बढ़ाने का काम कर रहे है। विगत 41 बरस से इस परम्परा का अनवरत चलना पूरे राज्य में कोपरा को विशिष्ट स्थान दिलाता है। मुख्यमंत्री ने उपस्थित जनसमूह को सम्बोधित करते हुए कहा कि विकास यात्रा के दौरान पूरे राज्य में 30 हजार करोड़ रुपए से भी ज्यादा के विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया जा रहा है। लोगों से नजदीक से मुलाकात के साथ-साथ किसानों को एक हजार 700 करोड़ रुपए का बोनस भी बांट रहे है। तीन सौ रूपए प्रति च्ंिटल के हिसाब से उन्हें बोनस दिया जा रहा है। तेन्दूपत्ता संग्राहकों को भी इस दौरान लगभग 700 करोड़ रुपए के बोनस वितरित किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने बताया कि राज्य सरकार ने संग्राहकों का तेन्दूपत्ता तोड़ाई दर को वर्ष 2004 के संग्रहण दर 450 रुपए प्रति मानक बोरा से बढ़ाकर 2500 रूपए प्रति मानक बोरा कर दिया है। तेन्दूपत्ता तोड़ाई के दौरान होने वाली मुश्किलों को कम करने के लिए उन्हें चरणपादुका और साड़ी प्रदान करने के साथ ही उनके बच्चों को उच्च शिक्षा के लिए छात्रवृत्ति भी प्रदान कर रहे है।
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज गरियाबंद जिले की विभिन्न स्वागत सभाओं में कहा कि किसी भी गरीब परिवार के सदस्य की इलाज के अभाव में अब मौत नहीं होगी। उन्होंने कहा कि अब गंभीर से गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए आर्थिक समस्याएं बाधा नहीं बनेंगी। उन्होंने कहा कि यदि किसी गरीब परिवार के सदस्य को हार्ट, लीवर, किडनी संबंधी बीमारी हो जाए तो उस परिवार पर मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ता है। कई बार इलाज कराने के लिए घर और खेत भी बेचने पड़ जाते हैं। लेकिन अब केन्द्र सरकार द्वारा आयुष्मान योजना शुरू की जा रही है, जिससे गरीब परिवारों को गंभीर इलाज के लिए पांच लाख रूपए तक की मदद मिल जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निर्देश पर वे इस योजना की जानकारी विकास यात्रा के माध्यम से जन-जन तक पहुंचा रहे हैं।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *