प्रगति मैदान पर भू-मुद्रीकरण को मिली मंजूरी

नईदिल्ली,04 दिसंबर (आरएनएस)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने योजना को मंजूरी दी है और एसपीवी के पक्ष में 611 करोड़ रूपये के मूल्य पर 99 वर्ष के लीज होल्ड के तहत 3.7 एकड़ भूखंड को हस्तांतरित करने के लिए भारत व्यापार संवर्धन संगठन (आईटीपीओ) को अधिकृत किया गया है। फाइव स्टार होटल के विकास और संचालन के लिए भारतीय पर्यटन विकास निगम (आईटीडीसी) तथा भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) एक विशिष्ट उद्देश्य कंपनी का गठन करेंगे।
अंतर्राष्ट्रीय प्रदर्शनी और सम्मेलन केंद्र (आईईसीसी) परियोजना के कार्यान्यवन का कार्य तेजी से चल रहा है और इसके वर्ष 2020-21 तक पूरे होने की संभावना है।
प्रगति मैदान पर होटल निर्माण कार्य जल्द समाप्त करने के लिए एसपीवी आवश्यक कदम उठाएगी, जिनमें शामिल हैं-लंबी अवधि की लीज के आधार पर होटल के निर्माण, संचालन और प्रबंधन के लिए पारदर्शी व प्रतिस्पर्धी निविदा प्रक्रिया के तहत तीसरा पक्ष विकासकर्ता व संचालनकर्ता का चयन।
भारत की अवसंरचना और पर्यटन को सर्वश्रेष्ठ मानकों और सेवाओं के अनुसार विकसित करने से संबंधित सरकार की दृष्टि के अनुरूप आईटीपीओ प्रगति मैदान का पुर्नविकास कर इसे विश्वस्तरीय आईईसीसी बनाने के लिए इस मेगा परियोजना का कार्यान्वयन कर रहा है। पूरे विश्व में होटल सुविधा किसी बैठक, पहल, सम्मेलन और प्रदर्शनी (एमआईसीई) का अभिन्न अंग होती है।
होटल सुविधा आईईसीसी परियोजना का अभिन्न हिस्सा है, जो भारत को वैश्विक बैठकों, पहलों, सम्मेलनों और प्रदर्शनियों (एमआईसीई) के हब के रूप में प्रोत्साहन प्रदान करेगा तथा रोजगार सृजन के साथ व्यापार व वाणिज्य को बढ़ावा देगा। होटल आईईसीसी परियोजना का मूल्य संवर्धन करेगा और भारतीय व्यापार व उद्योग को लाभ प्रदान करेगा।
इसके अलावा अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले को प्रगति मैदान के इस रूपांतरण से लाभ मिलेगा जिसमें प्रतिवर्ष लाखों की संख्या में व्यापारी और आम लोग भाग लेते हैं। भाग लेने वाले व्यापारियों, उद्यमियों और लोगों को इन आधुनिक सुविधाओं से बहुत लाभ मिलेगा। व्यापार मेले में भाग लेने वाले लोगों की संख्या में वृद्धि होगी। लोगों को एक प्लेटफॉर्म मिलेगा जहां वे अपने व्यापार का विस्तार कर सकेंगे तथा भारतीय वस्तुओं और सेवाओं को बढ़ावा दे सकेंगे।
००

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *