बालाकोट पर सरकार के निर्णय का हो सम्मान: आलोक

नई दिल्ली ,14 अपै्रल (आरएनएस)। विश्व हिंदू परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार का कहना है कि पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकवादी शिविर पर भारतीय वायुसेना के हवाई हमले का जश्न मनाया जाना चाहिए क्योंकि यह सशस्त्र बलों की वीरता के साथ-साथ देश के राजनीतिक नेतृत्व के संकल्प को भी दर्शाता है।
विहिप प्रमुख दिवंगत अशोक सिंघल की स्मृति में आयोजित एक समारोह में शनिवार को कुमार ने उन लोगों पर सवाल उठाया जिन्होंने कहा था कि सैन्य बल और उनके अभियान का इस्तेमाल राजनीति करने या वोट पाने के लिए नहीं करना चाहिए। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को हुए आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। इसके जवाब में भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकवादियों के ठिकानों पर हवाई हमले किए थे, जिसको लेकर विपक्ष लगातार राजग सरकार पर सवाल उठा रहा है। कुमार ने कहा कि भारतीय वायु सेना ने 1971 से अभी तक कभी सीमा पार नहीं की। इस बार, हमारी सेना ने सीमा पार की और आतंकवादी शिविरों को निशाना बनाया। वे कहते हैं कि इसका इस्तेमाल चुनाव के लिए ना किया जाए। उन्होंने कहा कि भारतीय वायु सेना में दुश्मनों को मात देना का साहस हमेशा से था। यह सिर्फ इतना है कि मौजूदा राजनीतिक नेतृत्व ने संकल्प किया और सशस्त्र बलों को हवाई हमला करने के लिए कहा। इसका जश्न मनाया जाना चाहिए। सेना की वीरता की पूजा की जाने की जरूरत है और राजनीतिक निर्णय का भी सम्मान किए जाने की आवश्यकता है।
००

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *