नदी पर बनेगी समर्सिबल सड़क, भविष्य में नही होगा मुरम का उपयोग – बृजमोहन

रायपुर, 11 जनवरी (आरएनएस)। राजिम कुंभ स्थल पर नदी में अस्थाई मुरम की सड़क बनाये जाने का विरोध कर रहे लोगों के साथ कल छत्तीसगढ़ प्रदेश के धर्मस्व एवं कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने राजिम में बैठक की। यह बैठक भगवान राजीव लोचन मंदिर में सम्पन्न हुई। बैठक को संबोधित करते हुए बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि राजिम कुंभ की प्रतिष्ठा दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। देशभर से साधु-संतों का आगमन यहा निरंतर हो रहा है। स्वयं शंकराचार्य भगवान त्रिवेणी संगम की पावन धरा पर अपना प्रवचन करने पधारते हैं। हमारा सौभाग्य है कि भगवान कुलेश्वर महादेव की इस धरती पर स्थित त्रिवेणी संगम पर आयोजित कुंभ में सेवा का अवसर आप हम सभी को मिल रहा है। अग्रवाल ने विरोध कर रहे लोगों से कहा कि वे उनकी बातों और मांगों से पूर्णत: सहमत है, परंतु कुंभ के दौरान जनसुविधा को ध्यान में रखकर मुरम की सड़क बनाई जाती है। इस वर्ष कुंभ आयोजन की व्यवस्था में जुटे अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि मुरम का उपयोग कम से कम करें। अग्रवाल ने कहा कि भविष्य में मुरम की सड़क न बनाई जाए इसी बात को ध्यान में रखकर 30 करोड़ की लागत से सस्पेंशन ब्रिज (लक्ष्मण झूला) का निर्माण कराया जा रहा है। जिसके माध्यम से श्रद्धालु राजीव लोचन मंदिर से कुलेश्वर महादेव मंदिर तक आसानी से पहुंच सकेंगे। उन्होंने बताया की समर्सिबल सड़क का निर्माण भी प्रस्तावित है। निविदा जारी हो चुकी है।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *