सशक्त महिलाएं एक सशक्त समाज और मजबूत राष्ट्र का निर्माण कर सकती हैं : प्रधानमंत्री

कुरुक्षेत्र ,12 फरवरी (आरएनएस)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज हरियाणा में कुरुक्षेत्र का दौरा किया। उन्होंने महिला सरपंचों के एक सम्मेलन-स्वच्छ शक्ति 2019 में भाग लिया और देश भर की महिला सरपंचों को स्वच्छ शक्ति 2019 पुरस्कार प्रदान किए। प्रधानमंत्री ने कुरुक्षेत्र में स्वच्छ सुन्दर शौचालय प्रदर्शनी देखी। उन्होंने हरियाणा में अनेक विकास परियोजनाओं का उद्धाटन किया और आधारशिला रखी। इस अवसर पर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल और अनेक अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।
प्रधानमंत्री ने कहा कि देश भर के स्वच्छाग्रहियों के एकजुट होने से नये भारत के लिए स्वच्छ भारत का संकल्प मजबूत हुआ है।
प्रधानमंत्री ने भावुकता से भरे शब्दों में हरियाणा के लोगों से कहा कि राज्य वन रैंक, वन पेंशन से लेकर बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं की शुरूआत में अग्रणी रहा है और आयुष्मान भारत योजना का पहला लाभ भी हरियाणा की बेटी ने लिया।
प्रधानमंत्री ने जोर देकर कहा कि केवल सशक्त महिलाएं एक सशक्त समाज और मजबूत राष्ट्र का निर्माण कर सकती हैं। उन्होंने कहा कि किस प्रकार बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ, उज्ज्वला योजना, राष्ट्रीय पोषण मिशन, प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत मातृत्व अवकाश 12 सप्ताह से बढ़ाकर 26 सप्ताह करने और प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत घर पर स्वामित्व का पहला अधिकार महिला का करने जैसे कार्यों ने महिलाओं को सशक्त बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उन्होंने कहा, हमारी पहली सरकार है जिसने दुष्कर्म के लिए मृत्युदंड लागू किया।
प्रधानमंत्री ने कहा कि मुद्रा योजना के अंतर्गत करीब 75 प्रतिशत ऋण महिला उद्यमियों को दिए गए हैं। दीनदयाल अंत्योदय योजना के अंतर्गत करीब 6 करोड़ महिलाएं स्वसहायता समूहों में शामिल हुई हैं और ऐसे स्व-सहायता समूहों को 75000 करोड़ रुपये से अधिक के ऋण प्रदान किए गए हैं। यह राशि 2014 से पूर्व के चार वर्षों में आवंटित राशि से ढाई गुना अधिक है।
प्रधानमंत्री ने कहा,स्वच्छ शौचालयों के अभाव में हमारी माताओं और बेटियों के लगातार संघर्ष ने मुझे द्रवित कर दिया था और मैंने लाल किले की प्राचीर से स्वच्छ भारत की प्रतिज्ञा की थी। आजादी के करीब 70 साल में स्वच्छता का दायरा करीब 40 प्रतिशत था, आज यह 98 प्रतिशत पर पहुंच चुका है। साढ़े चार वर्षों में 10 करोड़ से अधिक शौचालयों का निर्माण किया गया है। 600 जिलों में 5 लाख गांव खुद को खुले में शौच से मुक्त कर चुके हैं। इससे उन्हें सम्मानजनक जीवन मिला है।
प्रधानमंत्री ने कुरुक्षेत्र के झज्जर जिले के भडसा गांव में राष्ट्रीय कैंसर संस्थान का उद्घाटन किया।
उन्होंने कहा कि सरकार सभी के लिए खासतौर से जो लोग महंगा इलाज नहीं करा सकते अथवा उन्हें महंगा लगता है, उन्हें स्वास्थ्य सेवा सुविधाएं सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। अपनी सरकार के प्रयासों की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य सेवा सुविधाओं और संस्थानों में पर्याप्त वृद्धि हुई है। देश में 21 एम्स, कार्य कर रहे हैं अथवा तेजी से निर्माण के विभिन्न चरणों में हैं। इन 21 एम्स में से 14 एम्स 2014 के बाद शुरू हुए। अब 1.5 लाख स्वास्थ्य देखभाल केन्द्रों की स्थापना और आयुष्मान भारत की शुरूआत के बाद हम सभी के लिए स्वास्थ्य सुनिश्चित करने के उद्देश्य से निरंतर कार्य कर रहे हैं।
प्रधानमंत्री ने कुरुक्षेत्र में श्रीकृष्णा आयुष विश्वविद्यालय की आधारशिला रखी, जो दुनिया में अपने किस्म का पहला है। इसमें आयुर्वेद, योग, यूनानी, सिद्ध और होम्योपैथी चिकित्सा प्रणाली के लिए शिक्षा और इलाज की व्यवस्था होगी।
इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्वास्थ्य विश्वविद्यालय, करनाल, राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान पंचकुला तथा फरीदाबाद में ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल की आधारशिला रखी।
‘पानीपत युद्ध संग्रहालयÓ की आधारशिला रखते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि पानीपत का युद्ध एक भारत श्रेष्ठ भारत का जीता जागता उदाहरण है।
प्रधानमंत्री ने जोर देकर कहा कि ये सभी परियोजनाएं हरियाणा के नागरिकों के जीवन को स्वस्थ और आसान बनाएंगी और साथ ही इनसे युवाओं के लिए रोजगार के नये अवसर पैदा होंगे।
प्रधानमंत्री ने स्वच्छ भारत मिशन के आधार पकडऩे और नाइजीरिया में इस प्रकार के कार्य के संबंध में भारत में स्टडी टूर के लिए आए नाइजीरिया के एक प्रतिनिधिमंडल की सराहना की।
००

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *