यात्रा-वृतांत श्रृंखला ‘रग-रग में गंगा की दूरदर्शन पर शुरूआत

नईदिल्ली ,31 जनवरी (आरएनएस)। जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण, सड़क यातायात एवं राजमार्ग तथा नौवहन मंत्री नीतिन गडकरी और सूचना एवं प्रसारण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) तथा युवा मामले एवं खेल राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) कर्नल राजवर्धन राठौड़ (से.नि.) ने आज दूरदर्शन के यात्रा-वृतांत कार्यक्रम ‘रग-रग में गंगाÓ तथा क्विज-शो ‘मेरी गंगाÓ का शुभारंभ किया।
यात्रा-वृतांत श्रृंखला ‘रग-रग में गंगाÓ को दूरदर्शन ने राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन (एनएमसीजे) के सहयोग से बनाया है। इस धारावाहिक में 21 कडिय़ां हैं, जो गोमुख से गंगा सागर तक गंगा नदी की यात्रा दिखाते हैं। इस धारावाहिक को बनाने में ड्रोन कैमरा और एचडी फॉरमेट में गो-प्रो कैमरा जैसी उन्नत तकनीकियों का इस्तेमाल किया गया है। इसके एंकर सुपरिचित अभिनेता राजीव खंडेलवाल हैं और इसे 2 फरवरी, 2019 से दिखाया जाएगा। इसका प्रसारण डीडी नेशनल पर हर शनिवार और रविवार को रात 9 बजे होगा। धारावाहिक में गंगा के संरक्षण की आवश्यकता का संदेश दिया गया है और इसमें गंगा को स्वच्छ करने के लिए सरकार के प्रयासों की जानकारी भी दी गई है। इसे अनोखे और दिलचस्प तरीके से तैयार किया गया है।
क्विज-शो ‘मेरी गंगाÓ को भी दूरदर्शन ने राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन के सहयोग से तैयार किया है। इसके तहत देशभर के स्कूली बच्चों को शामिल किया गया है, ताकि उनमें गंगा को स्वच्छ रखने के प्रति दिलचस्पी और जागरुकता पैदा हो तथा वे इस उद्देश्य के प्रति जुड़ाव महसूस करें।
इस अवसर पर नीतिन गडकरी ने गंगा के प्रवाह को ‘शुद्धÓ, ‘अविरलÓ और ‘निर्मलÓ बनाने के लिए सरकार के प्रयासों को रेखांकित किया। उन्होंने तरल और ठोस कचड़ा प्रबंधन परियोजनाओं का उदारहण दिया और कहा कि गंगा को स्वच्छ रखने के प्रयासों में कचड़े से संपदा के सिद्धांत का इस्तेमाल किया जा रहा है। उन्होंने इन प्रयासों के जरिये पर्यटन और रोजगार सृजन के विकास पर होने वाले असर का भी हवाला दिया।
शो के अभिनव और दिलचस्प फॉरमेट की प्रशंसा करते हुए कर्नल राठौड़ ने कहा कि गंगा को साफ करने के प्रति लोगों में जागरूकता पैदा की जानी चाहिए और लोगों को सरकार के प्रयासों के बारे में मालूम होना चाहिए। यह शो इसकी जानकारी प्रदान करता है। उन्होंने दैनिक जीवन में स्वच्छता के प्रति लोगों की मानसिकता में परिवर्तन लाने के लिए सरकार की कोशिशों का भी जिक्र किया।
दूरदर्शन की महानिदेशक सुसुप्रिया साहू ने बताया कि ड्रोन कैमरा और एचडी फॉरमेट में गो-प्रो कैमरा जैसी उन्नत तकनीकियों का इस्तेमाल किया गया है। उन्होंने यह भी कहा कि प्रयास किया जाएगा कि शो को क्षेत्रीय भाषाओं में भी रूपांतरित किया जाए, ताकि देशभर के लोग उसका लाभ उठा सकें।
इस अवसर पर सांसद मनोज तिवारी; जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण सचिव यू.पी.सिंह; सूचना व प्रसारण सचिव अमित खरे; एनएमसीजे के महानिदेशक आर.आर.मिश्रा; प्रसार भारती के सीईओ शशि शेखर वेमपति; सदस्य (वित्त), प्रसार भारती राजीव सिंह; आकाशवाणी के महानिदेशक एफ.शहरयार; एनएसडी-एआईआर की महानिदेशक सुइरा जोशी; डीडी न्यूज के महानिदेशक मयंक अग्रवाल और अन्य विशिष्टजन उपस्थित थे।(साभार-पीआईबी)
००

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *