पीडीएस व्यवस्था के लिए मैंने प्रेरणा शहीद वीरनारायण सिंह से ली : रमन सिंह

राजनांदगांव, 04 जनवरी (आरएनएस)। पीडीएस व्यवस्था की प्रेरणा मैंने शहीद वीरनारायण सिंह से ली है। उन्होंने लोगों की खाद्य सुरक्षा के लिए अपनी जान बाजी में लगा दी। यह बात मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने शहीद वीरनारायण सिंह की प्रतिमा अनावरण के उपलक्ष्य में गोंडवाना समाज के लोगों को संबोधित करते हुए कही। मुख्यमंत्री ने कहा कि शहीद वीरनारायण सिंह ने अतुलनीय शौर्य का परिचय दिया और 1857 की क्रांति में छत्तीसगढ़ का नाम देश के इतिहास में अमर कर दिया। उन्होंने कहा कि बस्तर से लेकर सरगुजा तक जनजातीय भाइयों की बेहतरी के लिए सरकार अनेक कदम उठा रही है। चाहे खाद्य सुरक्षा की बात हो, या शिक्षा की बात हो, हमेशा कोशिश होती है कि जनजातीय भाइयों को हरसंभव सुविधा मिल सके। उन्होंने कहा कि इस बार सरकार ने तेंदूपत्ता बोनस तिहार का आयोजन भी किया। इस साल तेंदूपत्ता संग्रहण की दर 2500 रुपए प्रति मानक बोरा कर दी गई है। शहीद वीरनारायण सिंह के आशीर्वाद से हम छत्तीसगढ़ में और भी बड़े कार्य कर पाने में सफल होंगे। इस मौके पर पूर्व संसदीय सचिव सिद्धनाथ पैकरा ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की सरकार ने खाद्य सुरक्षा को इस तरह स्थापित किया कि देश भर में छत्तीसगढ़ मॉडल की प्रशंसा हो रही है। इसका सबसे ‘यादा लाभ जनजातीय भाइयों को हुआ है। पढ़ाई-लिखाई के क्षेत्र में भी सरकार बड़े काम कर रही है। सरगुजा से लेकर दंतेवाड़ा तक आदिवासी ब’चों की सफलता यह दिखाती है कि सरकार का शिक्षा पर किया जा रहा खर्च सफल हो रहा है।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *