सदैव अटल समाधि स्थल हुआ देश को समर्पित

नईदिल्ली ,25 दिसंबर (आरएनएस)। पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेई का समाधि स्थल मंगलवार को राष्ट्र को समर्पित कर दिया गया. 25 दिसंबर को उनके जन्मदिवस के मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह समेत कई केंद्रीय मंत्रियों और सांसदों की मौजूदगी में पूर्व पीएम को श्रद्धांजलि दी गई और आम जनता के लिए इसे खोल दिया गया. यह समाधि स्थल उसी जगह पर बनाया गया है जहां पर इसी साल 17 अगस्त को अटल बिहारी वाजपेई की मृत्यु के बाद उनका अंतिम संस्कार किया गया था.

इस समाधि स्थल को अटल बिहारी वाजपेई के जीवन के विचारों के आधार पर बनाया गया है. यहां कुल नौ दीवारें हैं जिन पर वाजपेई की कविताओं की कुछ पंक्तियां लिखी गई हैं. यह कविताएं उन्होंने अपने जीवन के अलग-अलग समय के दौरान अलग-अलग विषयों पर लिखी थीं. इन दीवारों के बीच में वह स्थल है जहां पर उनका अंतिम संस्कार किया गया था. इसके बीच में कमल के कली के आकार का एक स्ट्रक्चर बनाया गया है जो कि सफेद रंग का है और यह हमेशा चमकता रहेगा. स्मारक को इस अंदाज में बनाया गया है कि दीवार और इस कमल के कली के बीच में जगह है जहां पर लोग बैठ सकेंगे, पूर्व पीएम के विचारों से रू-ब-रू हो सकेंगे और उनको समझ सकेंगे.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *