प्राकृतिक आपदाओं से हुई मौतों में विश्व में दूसरा सबसे खराब देश है भारत

नई दिल्ली ,05 दिसंबर (आरएनएस)। खराब मौसम के कारण होने वाली आपदाओं और उससे हुई लोगों की मौत के मामले में वर्ष 2017 में भारत दुनिया में 14वें नंबर पर था। 2015 में इस मामले में भारत चौथे और 2016 में छठे नंबर पर था। इसके चलते 2017 में भारत ने अपनी स्थिति में सुधार किया था, किन्तु 2018 में भारत को इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर रखा गया है। 2013 में भारत इस मामले में तीसरे नंबर पर था, जिसके बाद से अब तक यह भारत की सबसे बुरी स्थिति है। मंगलवार को पोलैंड में हुई यूएन क्लाइमेट कॉन्फ्रेंस में बताया गया कि भारत ग्लोबल क्लाइमेट रिस्क इंडेक्स में दूसरे नंबर पर है।
सीआरआई जलवायु परिवर्तन से जुड़ी वजहों से किसी देश में प्रति लाख आबादी में लोगों की मौत आकंड़े से उस देश की जीडीपी को होने वाले नुकसान के विश्लेषण पर आधारित है। इस गणना में बाढ़, साइक्लोन, टॉरनेडो, लू और शीत लहर से होने वाली मौतों को शामिल किया जाता है। इस साल दिए गए आंकड़ों की बात करें, तो भारत में 2017 में प्राकृतिक आपदाओं से 2,736 मौतें दर्ज की गईं, जबकि पुअर्तो रीको 2,978 मौतों के साथ इस लिस्ट में पहले नंबर पर है।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *