मोदी ने साढ़े 4 साल में खोया मंत्रिमंडल का तीसरा सहयोगी

नई दिल्ली ,12 नवंबर (आरएनएस)। केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार का असामयिक निधन बीजेपी और मोदी सरकार के लिए बड़ा झटका है। 59 वर्ष के कुमार कैंसर से पीडि़त थे। छह बार के सांसद अनंत कुमार भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व के हमेशा करीब रहे। चाहे अटल बिहारी वाजपेयी या लालकृष्ण आडवाणी का दौर रहा हो या मौजूदा नरेंद्र मोदी का समय, वह हमेशा पार्टी आलाकमान के हिस्से रहे।
कर्नाटक में बीजेपी की जड़े मजबूत करने वाले नेताओं में वह शुमार थे। वाजपेयी सरकार में भी वह मंत्री रहे थे और उस वक्त कैबिनेट के सबसे युवा सदस्य थे। ऐसे में साफ है कि उनका जाना पार्टी और सरकार के लिए बड़ा नुकसान है। अनंत कुमार से पहले मोदी सरकार के दो और मंत्रियों का असामयिक निधन हुआ था। ये थे-गोपीनाथ मुंडे और अनिल माधव दवे। केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार का 59 वर्ष की उम्र में निधन, कैंसर से थे पीडि़त
गोपीनाथ मुंडे
बीजेपी के दिग्गज नेता और मोदी सरकार में मंत्री गोपीनाथ मुंडे का 3 जून 2014 को निधन हो गया था। वह महाराष्ट्र में भाजपा का बड़ा चेहरा थे। वह मोदी सरकार में ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री थे।
अनिल माधव दवे
पिछले साल मई में अनिल माधव दवे का निधन हुआ था। वह मोदी सरकार में पर्यावरण मंत्री थे। नर्मदा नदी को बचाने के लिए अनिल माधव ने बहुत काम किया था। उन्होंने पर्यावरण को बचाने के लिए कई किताबें भी लिखीं। पर्यावरण मंत्री के तौर पर उनके कार्यकाल को 1 साल भी पूरा नहीं हुआ था। वह जल संसाधन समेत कई समितियों के सदस्य रहे।
आज अंतिम संस्कार में शामिल होंगे पीएम मोदी
केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार का अंतिम संस्कार मंगलवार की दोपहर किया जाएगा। भाजपा की कर्नाटक इकाई में प्रदेश महासचिव एन रवि कुमार ने एक बयान में कहा कि कुमार के पार्थिव शरीर को आज दिन भर बसवानागुड़ी स्थित उनके आवास पर रखा जाएगा। उन्होंने बताया कि मंगलवार को सुबह आठ बजे अनंत कुमार के पार्थिव शरीर को मल्लेश्वरम स्थित भाजपा के प्रदेश कार्यालय, जगन्नाथ भवन ले जाया जाएगा जहां पार्टी कार्यकर्ताओं एवं उनके समर्थकों द्वारा उन्हें श्रद्धांजलि दिए जाने की व्यवस्था की जाएगी। बयान में कहा गया कि बाद में कुमार के पार्थिव शरीर को नेशनल कॉलेज ग्राउंड ले जाया जाएगा जहां आम लोग उन्हें श्रद्धांजलि दे सकेंगे। कुमार का अंतिम संस्कार दोपहर एक बजे चामराजापेट श्मशान घाट पर किया जाएगा। गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने बताया कि केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार के दुर्भाग्यपूर्ण निधन के बाद यह तय किया गया है कि आज पूरे देश में राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा और राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।
छह बार के सांसद
छह बार के सांसद कुमार भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व के हमेशा करीब रहे। वह चाहे अटल बिहारी वाजपेयी या लालकृष्ण आडवाणी का दौर रहा हो या मौजूदा नरेंद्र मोदी का समय। महीनों तक फेफड़ों के कैंसर से जूझने के बाद कुमार का सोमवार तड़के बेंगलुरु के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया।
००

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *