बेड़े में शामिल हुई एम-777 और के-9 तोपें

नई दिल्ली ,09 नवंबर (आरएनएस)। भारतीय सेना की ताकत में अब और इजाफा होने जा रहा है। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने शु्क्रवार को थलसेना में तीन प्रमुख तोप प्रणालियों को शामिल किया, जिनमें ‘एम777 अमेरिकन अल्ट्रा लाइट होवित्जरÓ और ‘के-9 वज्रÓ शामिल हैं। ‘के-9 वज्रÓ एक स्व-प्रणोदित तोप है। थलसेना में शामिल की गई तीसरी तोप प्रणाली ‘कम्पोजिट गन टोइंग व्हीकलÓ है।
एक अधिकारी ने बताया कि अगले साल के मध्य तक ‘एम777Ó और ‘के-9 वज्रÓ की पहली रेजिमेंट बनाने की तैयारी से पहले इन तोपों को थलसेना में शामिल किया गया है। इस रेजिमेंट में 18 ‘एम777Ó और 18 ‘के-9 वज्रÓ तोपों को शामिल करने की योजना है।
145 ‘एम777Ó तोपों की खरीद के लिए भारत ने नवंबर 2016 में अमेरिका से 5,070 करोड़ रुपए की लागत का एक अनुबंध किया था। विदेशी सैन्य बिक्री कार्यक्रम के तहत यह अनुबंध किया गया था। इराक और अफगानिस्तान में इस्तेमाल हुए ‘एम777Ó तोपों को हेलिकॉप्टरों द्वारा आसानी से ऊंचाई वाले इलाकों में ले जाया जा सकता है।
००

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *