विकास ही अहसास का नाम है : डॉ. रमन सिंह

महासमुंद, 07 सितंबर (आरएनएस)। अटल विकास यात्रा के मंच से आज यहां मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि विकास ही अहसास का नाम है। विकास महसूस किया जाता है। छत्तीसगढ़ 18 साल का हो गया है। जब यह 25 साल का जवान होगा, तब इसकी गिनती देश के विकसित राज्यों में होगी। हमने आधार तैयार कर लिया है। 2025 में विकास की बुलंद इमारत तैयार हो जायेगी। इसके लिए हम अटल दृष्टि पत्र लायें हैं। महासमुंद जिले में विकास के कार्यों का उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि बस्तर से लेकर सरगुजा तक पूरे छत्तीसगढ़ में विकास महसूस किया जा सकता है। जब पहले गड्ढों में दर्द का अहसास होता था, तब पता चल जाता था कि कांग्रेस की सरकार है। आज पूरे प्रदेश में सड़कों का जाल बिछा है, बिजली, स्वास्थ्य से लेकर हर क्षेत्र में विकास हुआ है तो लोग इसका अनुभव कर रहे हैं। उन्होंने विरोधियों पर कटाक्ष करते हुे कहा कि वे विकास ढूंढने निकले हैं, वे विकास को अनुभव करें। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि क्या कांग्रेस ने 50 साल के राज में कभी गरीब को एक रूपये किलो में चावल दिया, क्या कभी किसान को राहत दी, क्या कभी आम जनता को, गरीब को एक-दो पांच हजार का स्वास्थ्य बीमा दिया। आज भाजपा की सरकार हर गरीब को एक रूपये किलो चावल दे रही है। किसानों को बोनस दे रही है। इलाज के लिए सभी को 50 हजार का स्मार्ट कार्ड और आयुष्मान भारत योजना में गरीबों के इलाज के लिए 5 लाख तक की व्यवस्था की गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा की सरकार ने माताओं-बहनों को उज्ज्वला योजना के तहत गैस सिलेंडर, गरीबों को पक्के मकान दिये हैं। ऐसा कोई क्षेत्र नहीं, जो विकास से अछूता हो। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ विकास के उजियारे से सराबोर रहेगा। उन्होंने राज्य निर्माता अटलजी के योगदान का स्मरण किया। शुक्रवार को अपनी अटल विकास यात्रा की शुरूआत मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने खल्लारी विधानसभा क्षेत्र के सुप्रसिद्ध चंडी मंदिर में पूजा-अर्चना और पहाड़ी के नीचे नवनिर्मित बुढ़ादेव मंदिर के लोकार्पण के साथ की। चंडी मंदिर परिसर में मंदिर समिति के पदाधिकारियों व सदस्यों ने भावभीना स्वागत किया। पूजा-अर्चना के बाद सौजन्य भेंट के दौरान मुख्यमंत्री ने मंदिर क्षेत्र में एक हजार फलदार वृक्षों का पौधारोपण करने के निर्देश कलेक्टर को दिए। इसी तरह पहाड़ी के नीचे से लेकर ऊपर मंदिर तक सोलर प्लांट बिजली की व्यवस्था के लिए भी निर्देशित किया। मंदिर परिसर में उन्होंने सामुदायिक भवन और चिल्ड्रन पार्क बनाने की घोषणा की। बाद में बूढ़ादेव मंदिर प्रांगण में स्वागत सभा लेने के बाद बागबाहरा पहुंचे मुख्यमंत्री ने झलप चौक पर संक्षिप्त स्वागत सभा में बागबाहरा में व्यवहार न्यायालय स्थापित करने की घोषणा करते हुए। आज से ही इसकी प्रक्रिया प्रारंभ करने की बात गगनभेदी नारों और करतल ध्वनि के मध्य की। इसके बाद मुख्यमंत्री की अटल विकास यात्रा का काफिला खल्लारी, मामाभांचा और झालखम्हरिया होते हुए महासमुंंद पहुंचा। बागबाहरा में विकासयात्रा का पुष्प वर्षा, करमा नृत्य, सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के साथ अभूतपूर्व स्वागत हुआ। इसी तरह बागबाहरा से महासमुंद तक हर पड़ाव पर स्वागत करने उमड़े ग्रामीणों का अभिवादन करते हुए मुख्यमंत्री ने स्वागत सभाओं को संबोधित किया और राज्य सरकार की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं का उल्लेख करते हुए लोगों को हुए लाभ की चर्चा की। विकास रथ पर उनके साथ लोनिवि मंत्री राजेश मूणत, विधायक व अन्य पिछड़ा वर्ग प्राधिकरण उपाध्यक्ष चुन्नीलाल साहू आदि सवार थे।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *