प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना में छत्तीसगढ़ पूरे देश में अव्वल : मिलेगा राष्ट्रीय पुरस्कार

रायपुर, 06 सितम्बर (आरएनएस)। छत्तीसगढ़ को प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के तहत आवास निर्माण के क्षेत्र में देश में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन (पूर्णांक 81.5 प्रतिशत) के लिए प्रथम पुरस्कार मिलेगा। इसके अतिरिक्त पांच विभिन्न वर्गों में पांच और राष्ट्रीय पुरस्कार मिलेगा। यह पुरस्कार 11 सितम्बर 2018 को नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित समारोह में दिए जाएंगे। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री अजय चन्द्राकर ने प्रदेश को राष्ट्रीय स्तर पर प्रथम पुरस्कार के लिए विभागीय अधिकारियों और कर्मचारियों को बधाई दी है। छत्तीसगढ़ सरकार की ओर से विभाग के वरिष्ठ अधिकारी यह पुरस्कार ग्रहण करेंगे। उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ में प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण अंतर्गत उत्कृष्ट कार्य के आधार पर राज्य को वर्ष 2016-17 से 2018-19 के मध्य तीन वर्षों में कुल 7.88 लाख आवास निर्माण का लक्ष्य दिया गया है। इसमे छह सितम्बर की स्थिति में चार लाख आवास पूर्ण हो चुके हैं।
पंचायत मंत्री चन्द्राकर ने राज्य के प्रथम आने पर हर्ष व्यक्त करते हुए कहा कि प्रदेश में वर्ष 2016-17 एवं 2017-18 अंतर्गत कुल लक्ष्य 4,39,275 के विरूद्ध 3,00,266 आवास पूर्ण कर लिये हैं जो मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेत्त्व में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विजऩ Ó2022 तक सभी के लिये आवासÓ की ओर एक बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने बताया कि केन्द्र सरकार द्वारा पहले राज्य को 2019 तक 6.23 लाख आवास निर्माण का लक्ष्य दिया गया था, लेकिन राष्ट्रीय स्तर पर उत्कृष्ट कार्य निष्पादन के आधार पर 65,000 मकान का अतिरिक्त लक्ष्य आबंटित करते हुए कुल 6.88 लाख आवास निर्माण का लक्ष्य दिया गया है। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव आर. पी. मण्डल ने आज यहां बताया कि देश में प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के क्रियान्वयन अंतर्गत राज्यों की श्रेणी में संपूर्ण कार्य निष्पादन में सर्वश्रेष्ठ कार्य के लिये छत्तीसगढ़ को प्रथम पुरस्कार दिया जा रहा है। इसी प्रकार जिलों के श्रेणी में राज्य के कोण्डागांव को द्वितीय तथा धमतरी को तृतीय पुरस्कार मिलेगा। पूर्ण आवासों की संख्या अंतर्गत विकासखंड की श्रेणी में राज्य के सारंगढ (जिला-रायगढ़) ने द्वितीय पुरस्कार हासिल किया है। ग्रामीण राजमिस्त्री प्रशिक्षण अंतर्गत राज्य की श्रेणी में प्रदेश को द्वितीय पुरस्कार मिला है। इसके अतिरिक्त मैनेजमेंट इंफॉरमेंशन सिस्टम में आधार सीडिंग के लिए भी छत्तीसगढ़ को पुरस्कार दिया जाएगा।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *