पिछले डेढ़ महीने में भारत ने किए 12 मिसाइलों के टेस्ट

0-सीमा विवाद के बीच चीन और पाक को दिया सख्त संदेश
नई दिल्ली,23 अक्टूबर (आरएनएस)। सीमा पर जबरदस्त तनाव के बीच भारत ने पिछले 45 दिनों में 12 मिसाइलों का सफल परीक्षण किया है। डिफेंस रिसर्च ऐंड डिवेलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (डीआरडीओ) पहले ही कह चुका है कि भारतीय सेनाएं, जैसी मिसाइलें चाहेंगीं, हम बनाकर देंगे। मिसाइलों के ताबड़तोड़ परीक्षण के जरिए युद्धक तैयारियों के मुजाहिरा में निश्चित तौर पर पाकिस्तान और चीन दोनों के लिए एक तरह का सख्त संदेश छिपा हुआ है।
सूत्रों के अनुसार शुक्रवार को अरब सागर में ऐंटी-शिप मिसाइल ने अपने लक्ष्य (एक पुराने जहाज) को बेहद सटीकता से मारकर नेस्तनाबूद कर दिया। एक दिन पहले ही, गुरुवार को ऐंटी-टैंक गाइडेड मिसाइल नाग का सफल परीक्षण किया गया था। बात अगर सिर्फ अक्टूबर महीने की करें तो 3 अक्टूबर को भारत ने सतह से सतह में मार करने वाली परमाणु क्षमता से लैस बलिस्टिक मिसाइल शौर्य का परीक्षण किया था। 9 अक्टूबर को ऐंटी-रेडिएशन मिसाइल रुद्रम का टेस्ट हुआ। 19 अक्टूबर को स्टैंड-ऑफ ऐंटी-टैंक (एसएएनटी) मिसाइल का टेस्ट हुआ। 22 अक्टूबर को ऐंटी-टैंक मिसाइल नाग और 23 अक्टूबर को ऐंटी-शिप मिसाइल का परीक्षण हुआ। भारत के रणनीतिक समुद्री क्षेत्र में नेवी ने युद्ध के लिए अपनी तैयारियों का प्रदर्शन करते हुए एक ऐंटी-शिप मिसाइल से एक जहाज को नष्ट कर दिया। अरब सागर में किए गए इस अभ्यास में मिसाइल का निशाना बेहद सटीक था। इंडियन नेवी ने इसका एक वीडियो शुक्रवार को जारी किया।
आईएनएस प्रबल से दागी गई मिसाइल
विमान वाहक पोत आईएनएस विक्रमादित्य और कई युद्धपोतों, लड़ाकू हेलिकॉप्टरों, विमानों और नेवी के अन्य उपकरणों को शामिल करने वाले एक व्यापक नौसैनिक अभ्यास के दौरान इस मिसाइल को फ्रंटलाइन कोरवेट आईएनएस प्रबल से दागा गया। नेवी के एक प्रवक्ता ने ट्वीट किया कि मिसाइल ने अपने लक्ष्य पर (एक पुराने जहाज पर) अपनी अधिकतम रेंज के साथ सटीकता से वार किया। उन्होंने कहा कि इंडियन नेवी के ‘फ्रंटलाइन कोरवेट आईएनएस प्रबलÓ से दागी गई ऐंटी-शिप मिसाइल ने अपने लक्ष्य पर अधिकतम रेंज के साथ सटीकता से वार किया।
००

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *