एक बार फिर पीएम ने उम्मींदों पर फेरा पानी : सुप्रिया

नई दिल्ली ,30 जून (आरएनएस)। सुप्रिया श्रीनेत ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि – आज देश को प्रधानमंत्री से बहुत उम्मीद थी, पर एक बार फिर उन्होंने सारी उम्मीदों पर पानी फेर दिया। उन्होंने कहा कि उम्मीद थी की वह कोरोना के संकट के खिलाफ एक निर्णायक कदम लेंगे।
आर्थिक मंदी के खिलाफ एक निर्णायक कदम लेंगे।
करोड़ों लोग जो अर्थव्यवस्था ध्वस्त होने से अपनी नौकरी खो बैठे हैं उनके लिए एक निर्णायक कदम लेंगे
लोगों को कुछ राहत पहुंचाएंगे जिनके वेतन में भारी कटौती हुई है
10 करोड़ श्रमिक जो सारी उम्मीद छोड़ चुके हैं उनके लिए एक निर्णायक कदम लेंगे
उनका कहना है, कि आज अहंकार छोड़ कर राहुल की बात मानेंगे और 7500 / प्रति माह का डायरेक्ट कॅश ट्रांसफर कर के लोगों की गंभीर तकलीफ दूर करेंगे। पर हमें सबसे ज़्यादा यह उम्मीद थी की वह चीन की आंख में आंख डाल कर बात करेंगे, हमें उम्मीद थी की वह अपने अंदर बेस हुए चीन के खौफ पर विजय पा कर मज़बूती का परिचय देंगे , पर खोदा पहाड़ और निकली चुहिया । उन्होंने पीएम के कथन का हवाला देते हुए कहा कि प्रधान मंत्री कहते हैं कि हम अच्छी स्थिति में है। यह लेखा जोखा है कोरोना मामलों का।
कुल मामले : 5.67 लाख
जून में पुरे विश्व में भारत में कोरोना फैलने की दर सबसे ऊँची
विश्व में हम चौथे स्थान पर हैं
प्रति दिन : करीब 20,000 नए मामले सामने आ रहे हैं
टेस्ट पॉजिटिव रेट : 11.4 प्रतिशत
टेस्टिंग अभी भी 5 सबसे ज़्यादा मामलों वाले देशों में हमारे यहां सबसे कम
इतने प्रचार प्रसार के बावजूद, नरेंद्र मोदी ने अपने 17 मिनट के लंबे भाषण में मात्र एक प्रशासनिक निर्णय लिया। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना को नवंबर तक बढ़ाया जाएगा।
आज भी सरकार और मोदी स्वयं, स्थिति की गम्भीरता को या तो समझने में असमर्थ हैं या जानबूझकर कर सुर्खय़िाँ बटोरने के चक्कर में अनदेखा कर रहे हैं। भाजपा को इस मानसिकता को त्यागना होगा और पूरी ईमानदारी से महामारी, आर्थिक मंदी और चीन से पुरज़ोर तरीक़े से लडऩा होगा। ज़बानी जमा खर्च करने का समय समाप्त हो चुका है।
००

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *