भारत वैश्विक ऊर्जा की मांग में दुनिया का सबसे बड़ा बाजार:कुट्टी

नईदिल्ली,16 जनवरी (आरएनएस)। पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के तत्वावधान में पेट्रोलियम संरक्षण अनुसंधान संघ (पीसीआरए) के एक महीने तक चलने वाले व्यापक वार्षिक ईंधन संरक्षण अभियान सक्षम का शुभारंभ गुरुवार को नयी दिल्ली में आयोजित एक समारोह में पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के सचिव डॉ. एम एम कुट्टी द्वारा किया गया।
डॉ. कुट्टी ने इस अवसर पर अपने संबोधन में देश के लिए पेट्रोलियम उत्पादों के महत्व पर जोर दिया और ईंधन संरक्षण की दिशा में कदम उठाने की सख्त जरूरत बताई। उन्होंने जनभागीदारी वाले सक्षम जैसे कार्यक्रमों के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि समृद्धि और बेहतर होते जीवन स्तर के कारण देश में ऊर्जा की मांग बढ़ रही है। वर्ष 2020 के मध्य तक भारत वैश्विक ऊर्जा मांग में 25 प्रतिशत की वृद्धि के साथ दुनिया का सबसे बड़ा विकसित बाजार होगा। उन्होंने कहा कि देश की कच्चे तेल की 83 प्रतिशत आवश्यकता आयात के माध्यम से पूरी होती है। ऐसे में ईंधन संरक्षण के सघन प्रयास आयात के बोझ को कम करने में मदद कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि बचाए गए तेल की हर बूंद विदेशी मुद्रा की बचत में योगदान करेगी। डा. कुट्टी ने कहा कि हमें जलवायु परिवर्तन के मुद्दों पर भी ध्यान देने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि सक्षम के माध्यम से हम यह सशक्त संदेश देना चाहते हैं कि एक टिकाऊ भविष्य के लिए प्राकृतिक संसाधनों का संरक्षण बेहद जरुरी है।
इस अवसर पर सचिव ने राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता-2019 के लिए निबंध, प्रश्नोत्तरी और चित्रकला प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किए, जिसमें देश के सभी शिक्षा बोर्डों के 1.48 करोड़ से अधिक छात्रों की अभूतपूर्व भागीदारी देखी गई है। विजेताओं को अध्ययन के लिए जापान की यात्रा करने का अवसर , लैपटॉप, टैबलेट और नकद पुरस्कार दिया जाता है। ये पुरस्कार देश के युवाओं को ईंधन संरक्षण के बारे में जागरूकता फैलाने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका को समझने में मदद कर सकते हैं। ईंधन संरक्षण के क्षेत्र में योगदान के लिए तेल कंपनियों और उनके राज्य स्तर के समन्वयकों को भी पुरस्कार दिए गए। इस अवसर पर प्रतियोगिता के विजेताओं द्वारा बनाए गए चित्रों और पेंटिंग की गैलरी में लगायी गयी प्रदर्शनी ने गणमान्य लोगों को अभिभूत किया।
इस अवसर पर डॉ. कुट्टी ने पीसीआरए के प्रचार वैन के काफिले को झंडी दिखाकर रवाना किया। ये गाडियां विभिन्न राज्यों में ग्रामीण क्षेत्रों में भी जाएंगी और लोगों तक दृश्य, श्रव्य और छपी हुई सामग्रियों के माध्यम से ईंधन संरक्षण का संदेश पहुंचाएंगी।
सक्षम-2020 के दौरान, पीसीआरए द्वारा विभिन्न तरह के संपर्क कार्यक्रम और गतिविधियां चलाई जा रही हैं। पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के कुशल मार्गदर्शन में सार्वजनिक क्षेत्र की तेल और गैस कंपनियां विभिन्न गतिविधियों का संचालन कर रही हैं। इनमें ‘सक्षम साईकिल डेÓ, ‘साइक्लोथॉनÓ, वाणिज्यिक वाहन चालकों के लिए कार्यशालाएँ, गृहणियों के लिए खाना पकाने के दौरान ईंधन की बचत के तौर तरीके अपनाने पर संगोष्ठी तथा रेडियो, टीवी, डिजिटल सिनेमा आदि के माध्यम से राष्ट्रव्यापी अभियान चलाना शामिल है। पीसीआरए ईंधन का उपयोग करने वालों तक ईंधन बचत का संदेश पहुंचाने के लिए जैसे फेसबुक, ट्विटर और माईजीओवी जैसे सोशल मीडिया प्लेटफार्मों का प्रभावी ढंग से उपयोग कर रहा है
सक्षम अभियान पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के तहत पीसीआरए और सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनियों का प्रमुख कार्यक्रम है। जिसका उद्देश्य देश में ईंधन बचत के संदेश को आम जनता तक प्रभावी ढंग से पहुंचाना है।
००

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *