एनसीबी और सीसीडीएसी और म्यांमार के बीच चौथी महानिदेशक स्तर की वार्ता

नईदिल्ली,09 जुलाई (आरएनएस)। नशीली दवाओं की तस्करी और इससे संबंधित मुद्दों के बारे में भारत के नारकोटिक्स नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) और म्यांमार में नशीली दवाओं के दुरुपयोग नियंत्रण के लिए केन्द्रीय समिति के बीच आज चौथी महानिदेशक स्तर की वार्ता का आयोजन किया गया।
भारतीय शिष्टमंडल का नेतृत्व नारकोटिक्स नियंत्रण ब्यूरो के महानिदेशक, अभय तथा म्यांमार के शिष्टमंडल का नेतृत्व ड्रग इंफोर्समेंट डिविजन के कमांडर ब्रिगेडियर जनरल, विन नेंग, संयुक्त सचिव सीसीडीएसी म्यांमार ने किया। 9 से 10 जुलाई, 2019 तक चलने वाली इस दो दिवसीय द्विपक्षीय बैठक का आयोजन दोनों देशों के बीच नशीली दवाओं की तस्करी के खिलाफ समन्वित और ठोस कार्रवाई करने के लिए किया जा रहा है। बैठक के पहले दिन दोनों पक्षों ने नशीली दवाओं की समस्या के संबंध में आपसी चिंताओं को साझा किया तथा नशीली दवाइयों और इसके अग्रदूतों की तस्करी से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी के आदान-प्रदान के बारे में संकल्प लिया।
म्यांमार में अग्रदूतों की तस्करी सहित खसखस की अवैध खेती और हेरोइन उत्पादन की प्रवृत्ति, म्यांमार से भारत में हेरोइन की तस्करी, भारत-म्यांमार सीमा पर एफेड्रिन/ श्यूडो-इफेड्रिन की तस्करी और म्यांमार से भारत में मेटमफ़ैटेमिन की तस्करी, नशीली दवाओं की तस्करी के मार्गों के बारे में जानकारी, नियंत्रित वितरण संचालन और सर्वोत्तम प्रथाओं और प्रशिक्षण की जरूरतों जैसे मुद्दों के बारे में बातचीत की गई। दोनों पक्षों ने उचित समय पर जानकारी/खुफिया जानकारी साझा करने के लिए परिचालन स्तर के संपर्कों का आदान-प्रदान किया। यह बैठक बड़े सौहार्दपूर्ण परिचालन और रचनात्मक वातावरण में हुई। नशीली दवाओं से संबंधित मामलों में सहयोग की प्रभावशीलता बातचीत की आवृत्ति पर निर्भर करती है। इसलिए आपसी सुविधाजनक तारीख पर अगली महानिदेशक स्तर की वार्ता म्यांमार में आयोजित करने के बारे में सहमति व्यक्त की गई।
००

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *