शिक्षा से वंचित लोगों तक पंहुचने का एक बेहतर माध्यम है दूरस्थ शिक्षा:निशंक

नईदिल्ली,06 जून (आरएनएस)। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने गुरुवार को लगातार तीसरे दिन मंत्रालय के उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। समीक्षा के मुख्य विषय दूरस्थ शिक्षा कार्यक्रम, रूसा और मंत्रालय की नवीन डिजिटल पहलें रहीं।
केंद्रीय मंत्री ने बैठक के दौरान कहा कि दूरस्थ शिक्षा कार्यक्रम शिक्षा से वंचित लोगों तक पंहुचने का एक बेहतर माध्यम है किंतु इन संस्थानों की साख बहुत अच्छी नहीं है। इन संस्थानों की डिग्री की महत्ता भी कम है। हमें इनकी साख और विश्वसनीयता बढ़ानी है और इसके लिए यूजीसी द्वारा जारी दिशा निर्देशों को सख्ती से पालन करवाना होगा। मंत्रालय को इसके लिए कठोर कदम उठाने होंगे। मंत्री जी ने दूरस्थ शिक्षा विश्विद्यालयों की शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने, शिक्षकों की कमी की पूर्ति करने एवं डिग्री की महत्ता बढ़ाने पर बल दिया।
केंद्रीय मंत्री ने मंत्रालय के अधीन चल रही विभिन्न डिजिटल पहलों की भी समीक्षा की। मंत्रालय के अधिकारियों ने मंत्री जी को स्वयं, स्वयं प्रभा, नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी और आपरेशन डिजिटल बोर्ड की गतिविधियों और प्रगति के बारे में जानकारी दी। केंद्रीय मंत्री ने सभी कार्यक्रमों के क्रियान्वयन में और अधिक गति लाने पर बल दिया।
केंद्रीय मंत्री ने रूसा कार्यक्रम की प्रगति की भी समीक्षा की एवं इसके और अधिक बेहतर क्रियान्वन का निर्देश किया। मंत्री जी ने रूसा के लिए आवंटित बजट को इष्टतम तरीके से उपयोग करने पर बल दिया।
केंद्रीय मंत्री ने उच्च शिक्षा के स्तर में सुधार करने हेतु उच्च शिक्षा के क्षेत्र में शिक्षकों के अनिवार्य प्रशिक्षण के लिए अधिकारियों को ढांचा तैयार करने का भी निर्देश दिया।
००

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *