पहली बार समझा गले मिलने और गले पडऩे में अंतर

नई दिल्ली,13 फरवरी (आरएनएस)। वर्तमान 16वींं लोकसभा के अंतिम दिन पीएम नरेंद्र मोदी ने अपनी सरकार के दौरान हुए उल्लेखनीय कार्यों का हवाला देते हुए हल्के फुल्के अंदाज में विपक्ष की चुटकी ली। उनके निशाने पर खासतौर से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी रहे। पीएम ने कहा कि वह वर्तमान लोकसभा में पहली बार चुन कर आए। पहली बार ही उन्होंने गले पडऩा और गले मिलना का ना सिर्फ अंतर समझा, बल्कि पहली ही बार आंखों की गुस्ताखियां भी देखी। गौरतलब है कि राफेल सौदे पर चर्चा के दौरान राहुल अचानक पीएम से गले मिले और इसके बाद अपनी सीट पर वापस आने के बाद आंख मारी थी।
अपने भाषण के दौरान पीएम ने कांग्रेस संसदीय दल के नेता मल्लिार्जुन खडग़े की जम कर तारीफ की तो दोबारा पीएम बनने की कामना करने वाले सपा के पूर्व प्रमुख का दो बार आभार जताया। हालांकि इस दौरान उन्होंने राहुल के नाम का एक बार भी जिक्र किए बिना उन पर लगातार सियासी निशाना साधा। पीएम ने कहा कि हम कभी कभी सुनते थे कि भूकंप आएगा। मगर पांच साल में भूकंप कभी नहीं आया। कई बड़े-बड़े लोगों ने हवाईजहाज उड़ाए, लेकिन लोकतंत्र की ताकत के कारण कोई भूकंप या हवाई जहाज उस ऊंचाई को छू नहीं पाया।
बिना कांग्रेस गोत्र की पहली सरकार
पीएम ने वर्तमान सरकार को बिना कांग्रेस गोत्र की सरकार बताया। उन्होंने कहा कि तीन दशक बाद किसी गैरसरकारी दल को जनता ने पूर्ण बहुमत दिया। देश के संसदीय इतिहास में पहली बार कांग्रेसी गोत्र से इतर विपक्ष की विशुद्घ सरकार बनी। इसके पहले 8 सत्रोंं में सौ फीसदी काम हुए। इसी लोकसभा में सबसे अधिक संख्या में महिला चुन कर आईं। पहली बार महिलाओंं को मंत्रिमंडल में सर्वाधिक भागीदारी मिली।
गिनाई उपलब्धियां
अपने भाषण में पीएम ने सरकार की उपलब्धियां गिनाई। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार के कार्यकाल में 219 में से 203 बिल पारित हुए। देश की प्रतिष्ठïा दुनिया में बढ़ी। देश दुनिया में छठे नंबर की अर्थव्यवस्था बना। दुनिया की प्रतिष्ठिïत संस्थाएं भारत के उज्जवल भविष्य की भविष्यवाणियां कर रही हैं। उच्च वर्ग के गरीब लोगों के लिए आरक्षण की व्यवस्था बहाल हुई। कालेधन के खिलाफ कानून बना।
००

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *