टेंडर निरस्त किए जाने के मुद्दे पर सदन में विपक्ष का हंगामा

रायपुर, 11 फरवरी (आरएनएस)। विधानसभा में चल रहे बजट सत्र के आज दूसरे दिन प्रश्रकाल में सत्तापक्ष और विपक्ष के बीच जमकर तकरार देखने को मिला। सत्तापक्ष के जवाबों से असंतुष्ट होकर विपक्ष ने हंगामा करते हुए सदन से वाकआउट कर दिया।
विधानसभा में आज प्रश्नकाल शुरू होते हुए पक्ष और विपक्ष में आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया। विधायक धरमलाल कौशिक ने कहा कि विधानसभा चुनाव के पूर्व जितने कार्य स्वीकृत हुआ था, आदेश के बाद जो काम रूका हुआ है, ऐसे कितने विभाग के काम रूके हुए हैं, ये सभी काम कब तक पूरा होगा? इस पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जबवा देते हुए सदन में बताया कि चुनाव के चलते आदेश दिया गया है। नई सरकार की अलग प्राथमिकता है। 203 काम की स्वीकृति दी गई है। निरीक्षण किया जा रहा है, इसके बाद आदेश जारी किया जाएगा, जो काम रूके हुए हैं, उनका परीक्षण किया जाएगा। डा. रमन सिंह ने कहा कि प्राधिकरण क्षेत्रों के कामों को प्राथमिकता देना चाहिए। इस पर बृजमोहन अग्रवाल ने प्रश्र करते हुए कहा कि टेंडर निरस्त होने के चलते विकाकस के काम रोके गए हैं। जहां सरकार का पैसा भी नहीं लगा है। रूटीन के काम को भी रोका गया है। इस पर सत्तापक्ष के सदस्यों ने इसका जोरदार विरोध करते हुए कहा कि टेंडर में जमकर घोटाला किया गया है। सीएम श्री बघेल ने कहा कि स्काई वॉक जैसे कई योजनाएं हैं, जिसकी समीक्षा की जाएगी। राज्य के बजट से टेंडर किया गया है केवल वही रोका गया है, प्रस्ताव के साथ स्वीकृति दी जाएगी। विधायक अमरजीत भगत ने कहा कि जो टेंडर हुए थे, इसके पैसे वापस करना पड़ रहा है, इस वजह से विपक्ष परेशान है।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *