अब खाड़ी के देशों में भी बिखरेगी छत्तीसगढ़ के चावल की सुगंध

नई दिल्ली ,08 नवंबर (आरएनएस)। देश के जैविक खाद्य उत्पादों और प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों की प्रदर्शनी का आयोजन राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के ग्रेटर नोएडा के एक्सपो मार्ट में सात से नौ नवंबर तक किया जा रहा है। इस मेले में छत्तीसगढ़ के जैविक उत्पादों की जबर्दस्त मांग दिख रही है। छत्तीसगढ़ के सुगंधित चावल की खुशबू अब खाड़ी के देशों में भी बिखरेगी।
यहाँ छत्तीसगढ़ से आए संस्थाओं से सबसे ज्यादा माँग सुगंधित चावल की मांग दिख रही है। देश के विभिन्न राज्यों के अलावा खाड़ी के देश सऊदी अरब, बहरीन, कुवैत, यूएई, कतर आदि देशों से सुगंधित चावल की काफी डिमांड आई है। सुगंधित चावल में सबसे ज्यादा जवाफुल, रामजीरा, विष्णुभोग, दुबराज की खरीदारी हो रही है। इसके अलावा मेले में लैब में आर्टिफिशियल तरीके से तैयार मशरूम की काफी डिमांड दिख रही है। यह खास तरह का मशरूम हिमालय की तराई में 10 हजार फीट की ऊंचाई पर उत्पादित होता है, जिसे छत्तीसगढ़ में लैब कृत्रिम तरीके से टिशू कल्चर से तैयार किया जा रहा है। इस मशरूम से शरीर की रोग प्रतिरोध क्षमता बढ़ती है, वहीं हार्ट अटैक से बचाव, किडनी को स्वस्थ रखने और बीपी कंट्रोल करने में सहायक है। मशरूम के लिए वियतनाम, सिंगापुर के लोग ज्यादा रुचि दिखा रहे हैं। मेले में प्रदेश की जैविक चावल, दाल, हर्बल टी, मसाले, बस्तर की इमली, अलसी, मुनगा के विभिन्न उत्पाद कैप्सूल, टैबलेट, पाउडर, तेल, प्रसंस्कृत खाद्य, औषधीय पौधों समेत विभिन्न जैविक उत्पाद उपलब्ध है।
0

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *